Labels

Thursday, March 17, 2016

Marriage- the pious bond.

Marriages are settled in heaven, but celebrated on Earth,
Union of two souls is written from birth.

आज मैं दुनिया के खूबसूरत रिश्ते के बारे में लिखने जा रहा हूँ/ जीवन बनाने बाले का खूबसूरत तोहफा है।  शादी इस खूबसूरत तोहफे का एक बहुत महत्बपूर्ण भाग है।  शादी कोई दो शरीरों या दिलों का मेल नहीं बल्कि दो आत्माओं दो परिवारों का ता उम्र की ख़ुशी , जिम्मेबारी, व समाज बृद्धि का सुखद साधन है / परन्तु आज इलेक्ट्रॉनिक युग में इस महत्ब पूर्ण रिश्ते को ग्रहण सा लगता जा रहा है / शादी दो हाड मांस के इंसानों का सम्बंध है न की फेसबुक या ट्विटर।  फेसबुक या ट्विटर बातें नहीं कर सकते जब इंसान बीमार पड़ता है फेसबुक या ट्विटर ध्यान नहीं रख पता / यह एक प्यार करने बल जिम्मेबारी समझने बल इंसान ही कर सकता है।

आज युवा पीढ़ी के अधिकांश लोग इलेक्ट्रॉनिक मिडिया से परभाभीत हो कर रियल लाइफ के रिश्तों को अनदेखा करते है / 40 -50 वर्ष तक शरीर में ऊर्जा का परवाह रहता है , तब तक सब कछ अच्छा लगता है परन्तु उसके बाद बदलाब आते हैं /शरीर उतना उर्जित नहीं रहता है , केवल उत्तर्दयितुय (जिम्मेबारिआ ) ही रह जाती है /

एक शोशल साइंटिस्ट ने अपने लेख में बहुत ही अच्छा विचार दिया।  उसने लिखा : केवल सोच को बदलने की जरूरत है / पार्टनर बदलने की नहीं / कैसे एक मैडम की क्वालिफिकेशन M.sc. B.Ed , Certificate in French है / बह स्कूल में प्रिंसिपल है / उसकी उम्र अब 50 के करीब है / जब मेरे पास आई तो उसकी उम्र 42 साल थी / दो बचे है / दोनों अंग्रेजी स्कूल में पड़े और अब लड़की B.Tech और लड़का B.B.A कर रहा है /

इस प्रिंसिपल की 42 साल में समस्या क्या थी / यह तलाक लेने पर तुली थी / इस मेंटर ने बताया की तलाक से बच्चों का भविष्य खराब हो जाता है उनके अंदर परिवार रूपी संस्था के प्रति आस्था समापत हो जाती है और बच्चे समाजविरोदी कर्म पर उतारू हो जाते है / इस लिए तलाक या माता पीता का एक दूसरे के प्रति सम्मान न होना भी बच्चे के जीवन को प्यार की बजाये नफरत से भर देता है / आप समस्या बताओ ?

इस प्रिंसिपल ने बताया : मेरे पति एक PHYSIOTHERAPY के डिप्लोमा होल्डरहै और गवर्नमेंट की नौकरी करते है / मेरी और उनकी शिक्षा में व् सोच में बड़ा फर्क है / मुझे उनके रिश्ते दार , मेरे रिश्तेदार , मेरी सहेलिआं ताने देती हैं , मुझ से बर्दाश्त नही होता /      

अब मेंटर बोला : क्या उन रिश्तेदारों सह्लिओं ने कभी आप के घर के खर्च के लिए पैसे दिए हैं , जब आप या आप के बच्चे वीमार हुए तो हॉस्पिटल का  बिल दिया है ?

कभी नहीं ? तो फिर बातें कैसी। आपकी एक समस्या है की आपका पति आपसे कम पड़ा लिखा है /
इसका तो बड़ा आसान हल है / आप अपने पति को मेरे पास लेकर आना /

कुछ दिनों के बाद प्रिंसिपल अपने पति को अपने साथ लेकर मेंटर के पास आई / मेंटर ने पति से पूच्छा कि क्या चाहते हो / उस्ने कहा "इज़्ज़त " घर में मेरी कोई इज़्ज़त नहीं करता / पत्नी बच्चे कोई भी नहीं /

अपनी पढ़ाई आगे करना चाहोगे / इस उम्र में , पति बोला /

पढ़ने की कोई उम्र नहीं होती / पड़ने से जीवन सम्बर जाता है। इज़्ज़त मिलती है / आत्मबल बड़ जाटा है /
आज आप की उम्र 42 साल है तीन साल में B.P.T कर जाओगे /
पति मान गया / पत्नी ने साथ दिया / 47 साल की उम्र में प्रिंसिपल और उसका पति मेंटर से मिलने आये।  पति ने बताया सर अब मैं M.P.T हूँ मतलब Master of Physiotherapy . मेंटर  बहुत खुश हुआ  ये सोच कर कि एक परिवार विखरने से बच गया।

मेंटर ने कहा , शादी को सफल बनाने के लिए :
1 . अपने पार्टनर की कमियां नहीं गुणों की लिस्ट  बनाओ
2. हमेशा अपने पार्टनर को दुनिया का सबसे महत्ब पूर्ण समझो।
3. जब भी कभी कोई misunderstanding हो दोनों अकेले बंद कमरे में बैठ कर बात चीत से हल करो
4. रियल लाइफ के फेसबुक व ट्विटर से  बचो
5 पति पत्नी की अपनी पर्सनल  बातें किसी से शेयर न करो / दूसरे इसका मजाक उड़ाते हैं /
6 पार्टनर पर भरोसा करो / उतार चढ़ाब जीवन का हिस्सा है / लाभ में खुश नहीं हानि में दुखी नहीं
7 संस्कारी माँ बाप ही संस्कारी बच्चों को अच्छा जीवन दे सकते है
8. छोटी छोटी बातों को तूल न दे
9. अच्छे पलों को ज्यादा ध्यान दे हमेशा 10 /20 बाद का सोचें
10 परिवार को प्यार का घोसला बनायें / जंग या कुश्ती का अखाड़ा नहीं
11 तीसरे किसी को भी अपनी विवाहित जीवन में दखलंदाजी न करने दें चाहे माँ हो भाई हो बाप हो / सुनो सब की पर दिमाग से सोच कर बुरा इग्नोर कर दो / शब्द है शब्द चिपकते नहीं / परन्तु जिंदगी बर्बाद होने पर कोई भी संभारने नहीं आता /
12 सारी दुनिया में केवल परिवार ही ऐसी जगह है जहाँ इंसान सुरक्षित महसूस करता है जहाँ सुख मिलता है बाकी कहीं नहीं / गलत सलाह देने बाले से दूर रहना चाहिए / यह बर्बाद कर देते हैं
13 सभी को छोड़ कर अपने पाने र्टनर पर भरोसा करो / उसका मान सम्मान करो / मान सम्मान शब्दो/से होता है / व्यव्हार से बाद में /   एक सुझाओ :
छोटीआं नु करो प्यार ,         बड़ों करो सत्कार
मीठे बोल प्यार बढ़ाते है , रिश्ते बनाते है
कोड़े बोल रिश्ते तुड़बाते हैं
रिश्ते जिंदगी है।  इनको संभाल के रखना एक कला है / इस कला को सीखो /
14 पार्टनर में कोई कमी हो तो उस कमी को पूरा करने के लिए उसकी भरपूर मदद करो और पार्टनर को अपने बराबर ले कर आयो / जैसे प्रिंसिपल ने अपने पति को पूरी लगन से पढ़ाया और अपने काबिल बनाया / नहीं तो क्या होता बकील अपनी फीस ले लेता और तलाक हो जाता / सभी रिश्ते नाते टूट जाते बच्चों का जीवन बर्बाद हो जाता / परन्तु समझदार प्रिंसिपल ने अपने पति का साथ दिया और आज सुख से जी रही है / अब कोई रिश्तेदार आता है तो पति अपनी पत्नी की प्रशंशा करता है : मैं जो भी हु अपनी पत्नी की बदौलत हु बच्चे भी माँ को गर्ब भरी नज़रों से देखते है / अब रिश्तेदार कभी कोई बात नहीं करते।  रिश्तेदार तो अख़बारों की तरह है आज ऊपर चढ़ा देते है कल उतार फेंकते है / अपनी सूझ भूज से चलना चाहिए /

15. आज किसी भी उमर में पड़ा जा सकता है /  17 /18 साल की उमर में DIRECT 10 बी कर सकता है / 25 साल क़ी उमर है तो DIRECT  B.A कर सकता है / 35 साल की उमर है तो DIRECT M.A कर सकता है।
अपने पार्टनर को लिख कर देने से या फ़ोन में रिकॉर्ड करके अपनी मंशा बताने से दूरियां दूर हो सकती है / नया जीवन जिया जा सकता है

मेरे दो UPDATE दुनिया लाइक कर रही है
1. One life , one wife . Rest all is knife . Beware .
2. Listening leverages learning . Listen , listen . Listen for understanding not for replying and reacting without any understanding. Children reply, matured minds respond. Mirror the talk. Arguments generate heat in minds and destroy relationships while discussions throw light on issues and life becomes easier.




No comments: