Labels

Monday, March 30, 2015

Efforts



स्वपन और आकांशा के लिए
परिश्रम इतनी धीरता और सहजता
से करें

कि सफलता चारों दिशाओं में शोर मचा दे।





सहज व् शीतल शब्द श्रोता का मन की शुद्धि, उसकी बुधि और
समृधि में सहायक होती है।


 

No comments: