Labels

Sunday, January 4, 2015

Vadmulla Teacher 1

दूसरों को बच्चे के जन्म दिन या शाद पर  उपहार दो
दूसरों का भला करो  आप को हमेशा याद रखेंगे

सेवा में
______________________________________________________________________

______________________________________________________________________

______________________________________________________________________

मेरे प्यारे __________________________________________(यहाँ जिसको उपहार दे रहें हैँ उसका नाम व उसके साथ आप का जो रिश्ता है लिखेँ ) मैं आप को यह गिफ्ट कर रहन हूँ कियूंकि मैं इस किताब को पढ़ कर बहुत सीखा है और मेरी इच्छा है आप भी इसे पढ़ें और अपना जीवन  करें।  धन्यबाद।

                                                                                                      आपका अपना




                                                                                                    (हस्ताक्षर )
दिनाँक ______________________

नोट : इस किताब को पढ़ें व अपनी असली जीवन में अपनाएं।  किताबें देव परित्मायों की तरह होती हैं , जो बिना थप्पड़ मारे जीवन को सही राह दिखाती हैं। आप अपने जीवन को सही राह  सकते हैं। चनन आप ने करना है।

 

No comments: